Popular Posts

Blog Archive

Search This Blog

--Advertisement--

ढाई सौ रुपए मिलते ही खुशी से पागल हो गया था ये अभिनेता और फिर बन गया बॉलीवुड का पहला सुपरस्टार

ढाई सौ रुपए मिलते ही खुशी से पागल हो गया था ये अभिनेता और फिर बन गया बॉलीवुड का पहला सुपरस्टार

<-- ADVERTISEMENT -->

बॉलीवुड के मशहूर सुपरस्टार अशोक कुमार का जन्म 13 अक्टूबर 1911 को भागलपुर शहर में हुआ था. उनके पिता कुंजीलाल गांगुली मध्य प्रदेश के खंडवा में वकील थे. अशोक कुमार ने अपने करियर में कई बेहतरीन किरदार निभाए और दशकों तक लोगों के दिलों पर राज किया. अशोक कुमार जब पहली बार फिल्म इंडस्ट्री में आए तो समय उनकी सैलरी 75 रुपए महीना थी.


उन्होंने एक बार पुराने दिनों को याद करते हुए अपने परम मित्र सआदत हसन मंटो से कहा था कि तनख्वाह में इस बढ़ोतरी से मेरी हालत सच में अजीबोगरीब हो गई थी. ढाई सौ रुपए दफ्तर के खजांची से, जब मुझे पहली बार इतनी रकम मिली तो अचानक से मेरे हाथ पैर कांपने लगे. मैं यह नहीं समझ पा रहा था कि इतने सारे रुपए में कहां रखूंगा.


बता दें कि अशोक कुमार ने अपनी पहली ही फिल्म जीवन नैया में एक गाना भी गाया था. अशोक कुमार को फिल्म किस्मत से बहुत कामयाबी मिली, जिसमें वह एंटी-हीरो के किरदार में नजर आए थे और इस फिल्म से वह सुपरस्टार बन गए. जब अशोक कुमार हीरो बने थे तो उनके घर में हड़कंप मच गया और इस वजह से उनकी शादी भी टूट गई थी. इसके बाद उनकी मां रोने लगी और पिता नागपुर चले गए. उनके पिता ने उनसे एक्टिंग छोड़ने के लिए कहा. लेकिन हिमांशु राय ने अकेले में उनके पिता से बात की.


फिर कुछ देर बाद उनके पिता उनके पास आए और उनसे कहा- वह (हिमांशु राय) कहते हैं कि अगर तुम यहीं काम करोगे तो 1 दिन बहुत ऊंचे मुकाम तक पहुंचोगे. मुझे लगता है कि तुम्हें यहां रुकना चाहिए. 10 दिसंबर 2001 को अशोक कुमार इस दुनिया को अलविदा कह गए. उनको 1999 में पद्म भूषण और 1988 में दादा साहब फाल्के पुरस्कार से नवाजा गया.

दोस्तों आपने अशोक कुमार की कोई फिल्म देखी हो तो कमेंट करके जरूर बताएं.
Loading...

<-- ADVERTISEMENT -->

Reactions:

bollywood celebs

Celebs Gossips

Post A Comment:

0 comments: