Popular Posts

Blog Archive

Search This Blog

Showing posts with label Waheeda Rehman. Show all posts

गुरुदत्त के मुसलमान बनकर वहीदा रहमान से निकाह की उड़ी थी अफवाह, रिश्ता टूटने पर किसी और से की शादी


गुरुदत्त का जब भी जिक्र होता है तो उनकी पत्नी गीता रॉय और कथित प्रेमिका वहीदा रहमान का नाम जरूर लिया जाता है. वहीदा रहमान पचास और साठ के दशक की बहुत ही खूबसूरत और कामयाब अदाकारा रहीं. वहीदा रहमान बचपन में डॉक्टर बनना चाहती थी. लेकिन आर्थिक तंगी के चलते उन्हें फिल्मों में काम करना पड़ा.

waheeda rehman  guru dutt

वहीदा रहमान ने हिंदी सिनेमा में अपने करियर की शुरुआत फिल्म सीआईडी से की जिसमें उनके साथ गुरुदत्त भी मुख्य भूमिका में थे. इसके बाद वहीदा रहमान और गुरुदत्त की जोड़ी कई फिल्मों में नजर आई और लोगों ने उनको बहुत पसंद भी किया. इसी दौरान इन दोनों के अफेयर की खबरें भी आने लगी.


ऐसा कहा जाता है कि गुरुदत्त अपनी पत्नी को छोड़कर वहीदा रहमान के साथ ज्यादा समय बिताते थे. लेकिन इस वजह से उनके शादीशुदा जीवन में परेशानियां शुरू हो गई. दोनों के बीच दूरियां आ गई. इसी वजह से गीता ने एक चिट्ठी लिखी थी. यह चिट्ठी उन्होंने वहीदा के नाम पर लिखी थी जिसमें उन्होंने कहा था- मैं तुम्हारे बिना नहीं रह सकती. अगर तुम मुझे चाहते हो तो आप शाम को 6:30 बजे मुझसे मिलने नारीमन पॉइंट पर आओ. तुम्हारी वहीदा.

waheeda rehman  guru dutt

गुरुदत्त चिट्ठी पढ़ने के बाद उस जगह पर पहुंचे तो उन्होंने गीता और उनकी दोस्त को कार में बैठे हुए देखा. घर पहुंचने पर दोनों के बीच काफी झगड़ा हुआ. ऐसी भी खबरें आई थी कि गुरुदत्त मुसलमान बनकर वहीदा से निकाह करने वाले हैं. लेकिन यह सारी खबरें झूठी निकली. बाद में गुरुदत्त ने आत्महत्या कर ली और वहीदा रहमान ने कमलजीत से शादी कर ली.

मौत पर खत्म हुई थी वहीदा रहमान और गुरुदत्त की प्रेम कहानी, आज तक नहीं पता चली मरने की वजह


पचास और साठ के दशक की खूबसूरत अदाकारा वहीदा रहमान का उस समय हर कोई दीवाना हुआ करता था. वहीदा रहमान बॉलीवुड की टॉप अभिनेत्री थी जिनका जन्म 3 फरवरी 1938 को हुआ था. वहीदा रहमान ने हिंदी के अलावा तेलुगु, बंगाली, मलयालम, तमिल भाषा की फिल्मों में भी काम किया. वहीदा रहमान ने हिंदी सिनेमा में फिल्म सीआईडी से करियर शुरू किया जिसमें गुरुदत्त उनके साथ मुख्य भूमिका में थे.

waheeda-rehman-birthday-special-and-he-love-story-with-guru-dutt

वहीदा रहमान और गुरुदत्त की जोड़ी को लोगों ने काफी पसंद किया. यह जोड़ी कई फिल्मों में नजर आई. गुरुदत्त पहले से ही शादीशुदा थे. लेकिन फिल्मों में काम करते हुए उनको वहीदा रहमान से प्यार हो गया जिस वजह से उनके शादीशुदा जीवन में परेशानी आने लगी और गुरु दत्त अपनी पत्नी गीता से अलग रहने लगे.

गुरुदत्त हिंदू थे और वहीदा मुस्लिम थी. इसी वजह से उनके परिवार वाले भी इस रिश्ते के लिए राजी नहीं थे. गुरुदत्त ने अपना परिवार बचाने के लिए वहीदा रहमान के साथ सारे रिश्ते तोड़ लिए. लेकिन गुरुदत्त अपने परिवार से दूरी और वहीदा रहमान के दूर जाने का दुख बर्दाश्त नहीं कर पाए. वह अपने सहयोगियों के सामने कई बार जान देने की बात करते थे. वह अपनी बेटी से मिलना चाह रहे थे.



लेकिन गीता ने उनको मिलने नहीं दिया. 10 अक्टूबर 1964 को गुरु दत्त के दोस्त अबरार के पास फोन आया कि गुरुदत्त की तबीयत खराब है. जब अबरार उनके घर पहुंचे तो उन्होंने देखा कि गुरुदत्त पलंग पर लेटे हुए थे जिसके पास एक मेज पर गिलास रखा हुआ था जिसमें गुलाबी रंग का तरल पदार्थ था. गुरुदत्त की मौत की वजह कभी सामने नहीं आई. कुछ लोगों ने यह भी कहा कि वह डिप्रेशन में थे.

पत्नी के पराए मर्द से रिश्ते बर्दाश्त नहीं कर पाए थे गुरुदत्त, ऐसे बर्बाद हुई जिंदगी

guru-dutt-death-anniversary-when-geeta-roy-left-him-and-he-commits-suicide

गुरुदत्त का जब भी जिक्र होता है तो उनकी पत्नी गीता और कथित प्रेमिका वहीदा रहमान का नाम भी लिया जाता है. हालांकि गुरुदत्त के मौत की वजह किसी को पता नहीं चल पाई. गुरुदत्त और गीता रॉय की मुलाकात फिल्म बाजी के सेट पर हुई थी. दोनों एक दूसरे से प्यार करने लगे और फिर उन्होंने शादी कर ली. लेकिन जब गुरु दत्त फिल्म प्यासा बना रहे थे तो गीता और गुरुदत्त के बीच दूरियां आना शुरू हो गई.

guru-dutt-death-anniversary-when-geeta-roy-left-him-and-he-commits-suicide

इस दौरान गुरुदत्त वहीदा रहमान की तरफ आकर्षित हो रहे थे. गुरुदत्त और गीता के रिश्ते में प्यार की जगह शक ज्यादा बढ़ गया था. इसी बीच गीता ने वहीदा रहमान के नाम से एक चिट्ठी लिखी जिसमें उन्होंने लिखा था कि अगर तुम मुझे चाहते हो तो आज शाम 6:30 बजे मुझसे मिलने नारीमन पॉइंट आ जाना, तुम्हारी वहीदा.

guru-dutt-death-anniversary-when-geeta-roy-left-him-and-he-commits-suicide

जब गुरुदत्त वहां पहुंचे तो उन्होंने देखा कि गीता और उनकी दोस्त वहां कार में बैठी कुछ खोज रही थी. इसके बाद घर पहुंचने पर दोनों के बीच झगड़ा हुआ और दोनों की बातचीत बंद हो गई. इसी बीच गुरुदत्त और वहीदा रहमान के शादी की खबर भी आई थी और गीता लंदन में थी. गीता लंदन से घर वापस आने की जगह कश्मीर चली गई. कई महीनों तक गीता घर वापस नहीं आई.

इसी बीच गुरुदत्त को यह पता चला कि गीता किसी पाकिस्तानी पुरुष के साथ रह रही है. इस वजह से उन्हें गहरा धक्का लगा. गुरुदत्त ने गीता के अपने परिवार को बचाने के लिए वहीदा का साथ छोड़ दिया. गुरुदत्त चाहते थे कि गीता उनके पास वापस लौट आए. दोनों ने नए सिरे से जिंदगी शुरू की. लेकिन फिर से दोनों के बीच झगड़े होने लगे और दोनों अलग-अलग रहने लगे. एक रात गुरुदत्त ने नींद की गोलियां खाकर अपनी जान दे दी.

वहीदा रहमान ने राजेश खन्ना को बताया था खराब एक्टर, कहा- सुबह की जगह दोपहर की शिफ्ट में आते थे


बॉलीवुड की सदाबहार अभिनेत्री वहीदा रहमान ने राजेश खन्ना को फिल्म इंडस्ट्री के सबसे बुरे अभिनेताओं में से एक कहा था. वहीदा रहमान ने अपने दौर को याद करते हुए अपने सबसे अच्छे और बुरे को-स्टार्स के बारे में बताया. इसी दौरान वहीदा ने इस बात का जिक्र किया था.

waheeda rehmanrajesh khanna

जय भानुशाली ने उनसे उनके दौर के सबसे बुरे एक्टर के बारे में पूछा तो उन्होंने राजेश खन्ना का नाम लिया. वहीदा ने कहा- राजेश खन्ना बॉलीवुड में सबसे ज्यादा दुखी कर देने वाले अभिनेताओं में से एक थे. वह बहुत कंजूस थे. जब भी कोई उनसे पैसे की बात करता तो वह टालकर गायब हो जाते थे. वह हमेशा सेट पर देरी से आते थे. सुबह की शिफ्ट होती थी तो वह दोपहर तक पहुंचते थे.

rajesh khanna

वहीदा ने इस दौरान शशि कपूर को लेकर कहा कि शशि कपूर एक बहुत ही सुंदर और सज्जन व्यक्ति थे. शम्मी कपूर भी बहुत कूल और मस्तीखोर इंसान थे. ऐसा भी कहा जाता है कि राजेश खन्ना बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार रहे जिनकी एक झलक पाने को लड़कियां बेताब रहती थी. राजेश खन्ना जैसा स्टारडम शायद ही कोई अभिनेता हासिल कर पाए.

rajesh khanna

उस समय आलम यह था कि जहां भी राजेश खन्ना की सफेद गाड़ी खड़ी होती थी लड़कियों की लिपस्टिक की वजह से उनकी गाड़ी गुलाबी हो जाती थी. ऐसा भी कहा जाता है कि लड़कियां राजेश खन्ना की गाड़ी की धूल से अपनी मांग भर लिया करती थी. हालांकि उनके बारे में यह बात भी मशहूर है कि वह काफी अहंकारी थे और सेट पर हमेशा लेट आते थे.

मध्य प्रदेश सरकार देगी वहीदा रहमान को किशोर कुमार सम्मान

भारतीय सिनेमा की मशहूर अदाकारा वहीदा रहमान को मध्य प्रदेश सरकार किशोर कुमार सम्मान 2018 से सम्मानित करेगी. इसकी घोषणा की जा चुकी है. इस सम्मान में वहीदा रहमान को 2 लाख रुपए, शॉल-श्रीफल और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाएगा. यह सम्मान वहीदा रहमान को पिछले साल 13 अक्टूबर को किशोर कुमार की 32वीं पुण्य तिथि पर खंडवा में हुए कार्यक्रम में दिया जाना था. लेकिन खराब तबीयत के चलते वहीदा रहमान कार्यक्रम में शामिल नहीं हो पाईं.

waheeda rehman

इसी वजह से उन्हें यह पुरस्कार 4 फरवरी को मुंबई स्थित उनके बांद्रा निवास पर दिया जाएगा. इस बात की जानकारी मध्य प्रदेश के संस्कृति मंत्री विजय लक्ष्मी साधो ने दी. वहीदा रहमान 82 साल की हो चुकी है. उनका जन्म 1938 में तमिलनाडु की चैंगलपट्टू में हुआ था.

waheeda rehman

वहीदा रहमान बचपन से ही संगीत और नृत्य की शौकीन थी. लेकिन मैं डॉक्टर बनना चाहती थी. हालांकि आर्थिक तंगी की वजह से वह अपना यह सपना पूरा नहीं कर पाई. वहीदा रहमान ने अपना करियर फिल्म सीआईडी से शुरू किया था जिसमें उनके साथ गुरु दत्त मुख्य भूमिका में थे.

waheeda rehman

वहीदा रहमान को 1965 में रिलीज हुई फिल्म गाइड के लिए फिल्मफेयर अवार्ड से भी सम्मानित किया गया. वहीदा रहमान को पद्मश्री और पद्मभूषण जैसे पुरस्कारों से भी नवाजा जा चुका है. हिंदी सिनेमा में उनका योगदान हमेशा से सराहनीय रहा है.