Popular Posts

Blog Archive

Search This Blog

पुलवामा अटैक: काश हकीकत होती इन फिल्मों की कहानी, पाकिस्तान में बैन हैं यह फिल्में

फिल्मों मे पाकिस्तानी आतंकवादियों को बुरी तरह बर्बाद कर दिया जाता है। पाकिस्तान ने इन फिल्मों को अपने देश मे बैन किया हुआ है।पाकिस्तान से हर आतंकी हमले का बदला लेने की कहानी दिखाई गई है, जो सिर्फ कालपनिक है। बार-बार दुनियाभर मे हो रहे ऐसे आतंकी हमलों की वजह से अब हर कोई चाहता है, कि काश उन आतंकवादियों को जड़ से मिटाने का कोई तरीका निकल जाए।


15 अगस्त 1947 को भारत अंग्रेजों की गुलामी से आजाद हुआ था जिसके बाद बंटवारे से पाकिस्तान और भारत दो अलग-अलग देश बने इसके बाद से आज तक पाकिस्तान और भारत के बीच दोस्ती-दुश्मनी चली आ रही है, और अब तक कई हमलों ने दोनों देशों को बहुत गहरे जख्म दिए है। 14 फरवरी को भारतीय सीआरपीएफ के जवानों पर हुए हमले ने पूरे भारत को सदमे मे डाल दिया है।

pulwama attack

भारत मे बनी कई ऐसी फिल्में है, जिनकी कहानी तो कालपनिक है, लेकिन अब इन फिल्मों की कहानियों के सच होने की कल्पना की जाती है। इन फिल्मों मे पाकिस्तानी आतंकवादियों को बुरी तरह बर्बाद कर दिया जाता है। पाकिस्तान ने इन फिल्मों को अपने देश मे बैन किया हुआ है। आइये हम आपको कुछ ऐसी ही फिल्मों के बारे मे आपको बताते है।

फैंटम

pulwama attack

यह फिल्म साल 2015 मे रिलीज हुई थी। इस फिल्म की कहानी कालपनिक थी। इस फिल्म मे कैटरीना कैफ और सैफ अली खान लीड रोल मे है। इस फिल्म मे मुंबई 26/11 अटैक के मुजरिमों से बदला लेने की कालपनिक कहानी बताई गई है, जिसके सच होने की कमना हर भारतीय करता है।

बेबी

pulwama attack

अक्षय कुमार की यह फिल्म साल 2015 मे रिलीज हुई थी। इस फिल्म मे अक्षय कुमार ने एक जासूस का किरदार निभाया था। फिल्म मे कुछ आतंकवादियों को मारने वाले एक मिशन मे आतंकी संगठन के सरगना के पकड़े जाने की कालपनिक कहानी है।
pulwama attack

ऐसी कई फिल्में है, जिनमे पाकिस्तान से हर आतंकी हमले का बदला लेने की कहानी दिखाई गई है, जो सिर्फ कालपनिक है। बार-बार दुनियाभर मे हो रहे ऐसे आतंकी हमलों की वजह से अब हर कोई चाहता है, कि काश उन आतंकवादियों को जड़ से मिटाने का कोई तरीका निकल जाए।
loading...

Reactions:

Entertainment

Post A Comment:

0 comments: