रेखा की फिल्म 'खून भरी मांग' से जुड़े यह 5 रोचक तथ्य, बहुत कम लोग जानते हैं - BackToBollywood

Blog Archive

Search This Blog

Total Pageviews

रेखा की फिल्म 'खून भरी मांग' से जुड़े यह 5 रोचक तथ्य, बहुत कम लोग जानते हैं

5 interesting facts related to Rekha's film 'Khoon Bhari Maang'. रेखा की फिल्म 'खून भरी मांग' से जुड़े यह 5 रोचक तथ्य, बहुत कम लोग जानते हैं

<-- ADVERTISEMENT -->

All in one downloader


 5 interesting facts related to Rekha's film 'Khoon Bhari Maang'
नमस्कार दोस्तो स्वागत है एक बार फिर से आप सभी का हमारे आज के इस पोस्ट में दोस्तो आज हम बात करने वाले हैं रेखा की फिल्म खून भरी मांग के बारे में। दोस्तो यह फिल्म साल 1988 में रिलीज हुई थी। एक्शन ड्रामा पर आधारित इस फिल्म का निर्देशन राकेश रोशन ने किया था। और फिल्म में संगीत राजेश रोशन ने दिया था। चलिए दोस्तो अब जानते हैं फिल्म से जुड़ी 5 अनुसनी बातें।


 

1. बॉलीवुड फिल्म खून भरी मांग पहली हिंदी फिल्म थी जिसमें सोनू वालिया तथा रेखा ने एक साथ काम किया था। इससे पहले उन दोनों ने किसी भी हिंदी फिल्म में एक साथ काम नहीं किया था।
2. बॉलीवुड फिल्म खून भरी मांग का म्यूजिक राजेश रोशन द्वारा कंपोज किया गया था। आपको बता दें कि इस फिल्म का गाना आते 'हंसते हंसते कट जाए रस्ते' बेहद लोकप्रिय हुआ था जिसे नितिन मुकेश तथा साधना सरगम ने गाया था।
3. फिल्म के एक दृश्य में रेखा घुड़सवारी करती हैं। आपको बता दें कि उन्होंने अपने जीवन में पहली बार घुड़सवारी की थी।
4. फिल्म निर्माता राकेश रोशन इस फिल्म में सोनिया वालिया के स्थान पर अनिता राज को कास्ट करना चाहते थे। हालांकि उन्होंने इस फिल्म में काम करने से इंकार कर दिया था क्योंकि वह कोई भी नकारात्मक भूमिका नहीं निभाना चाहती थी।
5. मशहूर फिल्म अभिनेत्री रेखा को इस फिल्म के लिए फिल्मफेयर अवार्ड फॉर बेस्ट एक्ट्रेस से सम्मानित किया गया था, जबकि सोनू वालिया को फिल्म फेयर अवॉर्ड फॉर बेस्ट एक्ट्रेस इन ए सपोर्टिंग रोल से सम्मानित किया गया था। दोस्तो आपको इस फिल्म से जुड़ी कौन सी बात सबसे दिलचस्प लगी कमेंट करके कमेंट बॉकस में आप हमें अपनी महत्वपूर्ण राय जरूर बताएं और पोस्ट पसन्द आई हो तो पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ शेयर करें धन्यवाद


यह भी पढ़ें -



<-- ADVERTISEMENT -->

Entertainment

Movie Review

Post A Comment:

0 comments: