Popular Posts

Blog Archive

Search This Blog

--Advertisement--

3 हफ्ते तक फूलन देवी का किया गया था गैंगरेप, बदला लेने के लिए 22 लोगों को मारी थी गोली



आपमें से ज्यादातर लोगों ने फूलन देवी का नाम सुना होगा जो गैंगरेप का शिकार हुई। इसके बाद वे डाकू और फिर सांसद बनी। फूलन देवी पर एक फिल्म बैंडिट क्वीन बनाई गई। 1994 में शेखर कपूर की यह फिल्म रिलीज हुई। सीमा विश्वास इस फिल्म में फूलन देवी के रोल में नजर आई। यह फिल्म दर्शकों को काफी पसंद आई और फिल्म ने बेस्ट फीचर फिल्म का नेशनल अवॉर्ड हासिल किया था। इसके अलावा इस फिल्म को फिल्मफेयर का बेस्ट फिल्म क्रिटिक्स अवॉर्ड और बेस्ट डायरेक्शन अवॉर्ड दिया गया था। 


फूलन देवी का जन्म आज ही के दिन हुआ था। फूलन देवी की फिल्म को लेकर काफी विवाद हुआ था। इसको रिलीज ना करने की वजह से जमकर हंगामा मचा। लेकिन चैनल 4 के निर्माताओं ने 32,00,000 रुपए देकर उनको शांत कर दिया और बाद में कोर्ट के ऑर्डर के बाद फिल्म रिलीज हुई। 


फूलन देवी बचपन में काफी करीब थी। जब फूलन देवी 10 साल की थी तब उनके चाचा ने उनकी झड़प जमीन हड़प ली और चचेरे भाई के सिर पर ईट मार दी थी। इस कारण फूलन की शादी 35 साल बड़े आदमी से कर दी गई। फूलन के पति ने कई दिनों तक अपनी पत्नी का रेप किया। इससे उनकी तबीयत काफी ज्यादा खराब हो गई और वे अपने मायके आ गई। 


जब फूलन अपने ससुराल वापस आई तो उनके पति ने दूसरी शादी कर ली थी और दूसरी पत्नी ने फूलन को घर में घुसने भी नहीं दिया। इसके बाद उनकी मुलाकात कुछ ऐसे लोगों से हुई जो डाकुओं की गैंग से जुड़े हुए थे। इसके बाद फूलन देवी ने वो डाकुओं की गैंग जॉइन कर ली। हालांकि डाकुओं ने फूलन को अगवा कर लिया और फिर 3 हफ्तों तक उनका गैंगरेप किया। 1996 में वे समाजवादी पार्टी की टिकट से मिर्जापुर की सांसद चुनी गई।

Loading...

Reactions:

Entertainment

Post A Comment:

0 comments: