बिना ग्लिसरीन के ही रो पड़ती थी मौसमी चटर्जी, शादी के बाद किया था बॉलीवुड में डेब्यू - BackToBollywood

Popular Posts

Blog Archive

Search This Blog

बिना ग्लिसरीन के ही रो पड़ती थी मौसमी चटर्जी, शादी के बाद किया था बॉलीवुड में डेब्यू

मौसमी चटर्जी ऐसी अभिनेत्री जो बिना ग्लिसरीन के ही रो पड़ती थीं, मात्र 18 साल की उम्र में बन गई थी मां

<-- ADVERTISEMENT -->



moushumi-chatterjee
मौसमी चटर्जी बॉलीवुड में 60 और 70 के दशक की दिग्गज एक्ट्रेसेस में से एक थी। मौसमी 26 अप्रैल को अपना 70वां जन्मदिन मना रही है उनका जन्म 26 अप्रैल 1948 को कोलकाता में हुआ था। मौसमी ने अपनी बेहतरीन अदाकारी के जरिए हिंदी और बंगाली सिनेमा में अपना एक अलग मुकाम बनाया था। मौसमी ने साल 1962 में आई बांग्ला फिल्म 'बालिका वधु' से अपने करियर की शुरुआत की थी। दिलचस्प बात ये है की मौसमी उस समय महज 16 साल की थी। मौसमी ने शादी के बाद बॉलीवुड में डेब्यू किया था।

जानिए मौसमी चटर्जी से की जीवन से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें।

शादी के बाद किया बॉलीवुड में डेब्यू

moushumi-chatterjee
मौसमी ने शादी के बाद साल 1972 में आई फिल्म 'अनुराग' से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। मौसमी ने अपने फिल्मी करियर में कई बेहतरीन फिल्में दी है। जिनमें 'अंगूर', 'मंजिल' और 'रोटी कपड़ा और मकान' जैसी फिल्में शामिल है। मौसमी ने अपने फिल्मी करियर में अमिताभ बच्चन, विनोद मेहरा, जीतेंद्र, संजीव कुमार, राजेश खन्ना और शशि कपूर जैसे सुपरस्टार्स के साथ काम किया है।

हाल ही में भाजपा में शामिल हुई है मौसमी

moushumi-chatterjee
मौसमी चटर्जी अपने दौर की सबसे ज्यादा फीस लेने वाली एक्ट्रेसेस में से एक थी। हालांकि वे लंबे समय से फिल्मों से दूर है। बता दे मौसमी इसी साल 2 जनवरी को भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुई थी। उनके पिता का नाम प्रांतोष चट्टोपाध्याय था जो की आर्मी में अफसर थे। मौसमी का असली नाम इंदिरा चटर्जी है। बंगाली फिल्मों के डायरेक्टर तरुण मजूमदार ने उन्हें मौसमी नाम दिया था।

प्रोड्यूसर जयंत मुखर्जी से की थी शादी

moushumi-chatterjee
मौसमी ने बेहद कम उम्र ही में जयंत मुखर्जी से शादी कर ली थी। जयंत पेशे से एक प्रोड्यूसर है। मौसमी की दो बेटियां मेघा और पायल है। जयंत से शादी के बाद ही उन्होंने बॉलीवुड फिल्मों में काम करना शुरू किया था। शादी के बाद भी उन्होंने बॉलीवुड में खूब नाम कमाया।

बिना ग्लिसरीन के ही रो पड़ती थी मौसमी चटर्जी

bollywood-moushumi-chatterjee-birthday-here-are-some-lesser-known-facts-moushumi-about-life
मौसमी हर सीन को बड़ी आसानी से शूट कर लेती थी। कहा जाता है की उन्हें रोने के लिए ग्लिसरीन की जरूरत तक नहीं पड़ती थी। एक इंटरव्यू में मौसमी ने खुद इस बात का खुलासा किया था। उन्होंने बताया था- 'किसी दृश्य में मुझे रोना होता था तो मैं सोचती थी कि ये मेरे साथ सच में हो रहा है और मैं रो पड़ती थी।'

Loading...

<-- ADVERTISEMENT -->

Reactions:

Post A Comment:

0 comments: