लॉकडाउन में लोगों को याद आया रामायण का दौर, जब सड़कों पर पसर जाता था सन्नाटा, दर्शक अगरबत्ती जलाकर बैठेते थे - BackToBollywood

Popular Posts

Blog Archive

Search This Blog

लॉकडाउन में लोगों को याद आया रामायण का दौर, जब सड़कों पर पसर जाता था सन्नाटा, दर्शक अगरबत्ती जलाकर बैठेते थे

लॉकडाउन में लोगों को याद आया रामायण का दौर, जब सड़कों पर पसर जाता था सन्नाटा, दर्शक अगरबत्ती जलाकर बैठेते थे

<-- ADVERTISEMENT -->



कोरोना वायरस की वजह से भारत में 21 दिन का लॉकडाउन कर दिया गया है. इस वजह से लोग अपने अपने घरों में कैद हो गए हैं. हालांकि लोग मनोरंजन के तरीके ढूंढ रहे हैं. इसी बीच कुछ लोगों ने सोशल मीडिया पर रामायण और महाभारत के दोबारा प्रसारण की मांग की है. ऐसा कहा जाता है कि रामायण के प्रसारण के दौरान उस समय अफसर से लेकर नेता तक ना तो किसी से मिलते थे और ना ही फोन उठाना चाहते थे.

 seeing-the-lockdown-people-remembered-the-era-of-ramayana-silence-on-the-streets

जब रामायण का प्रसारण होता था तो देश की सड़कों और गलियों में कर्फ्यू जैसा सन्नाटा पसर जाता था. लोग रामायण को देखने के लिए अगरबत्ती जला कर बैठ जाते थे. चप्पले कमरे के बाहर उतार दी जाती थी. आज भी देश में उसी तरह की स्थिति हो गई है .सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है.

 seeing-the-lockdown-people-remembered-the-era-of-ramayana-silence-on-the-streets

चारों ओर पुलिस की गाड़ियों के सायरन की आवाज गूंज रही है. खाली सड़के देख कर रामायण का वही दौर याद आ जाता है. सोशल मीडिया पर कुछ ऐसे पोस्ट आए जिनमें यूजर्स ने पीएम मोदी और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को टैग करते हुए मांग की कि दोबारा से रामायण और महाभारत का प्रसारण हो.

 seeing-the-lockdown-people-remembered-the-era-of-ramayana-silence-on-the-streets

यूजर्स का कहना है कि जब तक लोग घरों में रहने वाले हैं तो ऐसे में अगर इनका प्रसारण होता है तो बच्चों को कुछ सीखने को मिलेगा और बुजुर्गों की यादें ताजा हो जाएंगी. ऐसी ही उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही दर्शकों की यह मांग पूरी भी हो सकती है. प्रसार भारती के सीईओ शशि शेखर ने ट्वीट कर कहा कि रामायण और महाभारत के प्रसारण के लिए अधिकार धारकों से बातचीत कर रहे हैं.

Loading...

<-- ADVERTISEMENT -->

Reactions:

Corona Virus

TV Celebs

TV Serials

Post A Comment:

0 comments: