'हमारा बेड़ा गर्क हुआ...', Akshay Kumar ने 'पैन इंडिया' को लेकर आखिर क्यों कही ये बात? - BackToBollywood

Blog Archive

Search This Blog

Total Pageviews

'हमारा बेड़ा गर्क हुआ...', Akshay Kumar ने 'पैन इंडिया' को लेकर आखिर क्यों कही ये बात?


<-- ADVERTISEMENT -->



बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार (Akshay Kumar) जल्द ही चंद्र प्रकाश द्विवेदी निर्देशित फिल्म 'पृथ्वीराज' (Prithviraj) में 'सम्राट पृथ्वीराज चौहान' के किरदार में नजर आने वाले हैं. फिल्म में उनके साथ मिस वर्ल्ड का खिताब अपने नाम कर चुकी मानुषी छिल्लर (Manushi Chhillar) के अलावा सोनू सूद (Sonu Sood), संजय दत्त (Sanjay Dutt) और मानव विज (Manav Vij) नजर आने वाले हैं. अक्षय की ये फिल्म अगर महीने 3 जून को रिलीज होने जा रही है. इसी बीच अक्षय कुमान ने 'पैन इंडिया' को लेकर एक बड़ी बात कही है.

जैसा की आप सभी जानते हैं कि पिछले कुछ दिनों से भाषों को लेकर स्टार्स के भी मतभेद जारी है. हर कोई इस पर अपना पक्ष रख रहा है. अब इस मामले में अक्षय कुमार ने भी अपना बात रखी है. इस बारे में बात करते हुए अक्षय कुमार ने इस बात पर अपनी सहमती जताई कि टॉलीवुड फिल्मों की तुलना में बॉलीवुड फिल्में बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रही हैं. अक्षय कुमार इस बारे में बात करते हुए कहा कि 'मुझे उम्मीद है कि जल्द ही ऐसा समय भी आएगा जब बॉक्स ऑफिस पर हर फिल्म अच्छा प्रर्दशन करेगी'.

यह भी पढ़ें: शिव की 'गोरी' को भी लगता है डर? इसे देखते ही डर से कांपने लगती हैं Mouni Roy

इसके अलावा अक्षय ने कहा कि 'हमने अपने इतिहास से कुछ नहीं सीखा और अंग्रेजों ने भी धर्म और भाषा के आधार पर लोगों को बांटने का फायदा उठाया. यह समझने की जरूरत है कि इस वजह से हमारा बेड़ा गर्क हुआ था जब ब्रिटिशर्स आ के बोलते थे कि ये-ये है और वो-वो'. साथ ही उन्होंने बंटवारे पर बात करते हुए कहा कि 'उन्होंने हमें बंटा है और हमने इससे कभी नहीं सीखा. हम अभी भी इस हिस्से को नहीं समझते हैं, जिस दिन हम ये समझने लगेंगे कि हम एक हैं चीजें बेहतर हो जाएंगी'. अक्षय ने कहा कि 'हम खुद को एक इंडस्ट्री क्यों नहीं कह सकते हैं, और हमें इसे 'साउथ या हिंदी' कहकर बांटने की जरूर क्यों है?'.

यह भी पढ़ें: 'पृथ्वीराज चौहान राजपूत नहीं, गुर्जर राजा थे', रिलीज से पहले ही विवादों में घिरी Akshay Kumar की फिल्म




<-- ADVERTISEMENT -->

AutoDesk

Entertainment

Post A Comment:

0 comments: