सिर्फ एक ही कपड़े में पूरी शूटिंग खत्म करने का बना डाला Record, किया दिलचस्प खुलासा - BackToBollywood

Blog Archive

Search This Blog

Total Pageviews

सिर्फ एक ही कपड़े में पूरी शूटिंग खत्म करने का बना डाला Record, किया दिलचस्प खुलासा


<-- ADVERTISEMENT -->

All in one downloader


19 नवंबर को नेटफ्लिक्स पर कार्तिक आर्यन की फिल्म ‘धमाका’ रिलीज हो गई है। कार्तिक आर्यन ने इंडस्ट्री में अपने 10 साल पूरे कर लिए हैं। इन दस सालों में कार्तिक ने एक से बढ़कर एक हिट फिल्में दी हैं। कार्तिक आर्यन की पहली फिल्म प्यार का पंचनामा वर्ष 2011 में रिलीज हुई थी। इस फिल्म ने कार्तिक आर्यन को काफी लोकप्रियता दिलाई थी जिसके बाद कार्तिक ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

बात करें फिल्म धमाका की तो इस फिल्म को बहुत अच्छे रिव्यूज नहीं मिले हैं। फिल्म में कार्तिक टीवी एंकर की भूमिका में नजर आ रहे हैं। हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में कार्तिक ने फिल्म को लेकर खुलकर बात की है। इस दौरान उन्होंने कई दिलचस्प खुलासे भी किए।

धमाका के बारे में पूछने पर उन्होंने बताया कि मुझे पहली बार ऐसा किरदार निभाने का मौका मिल रहा था। मैं इसे लेकर काफी उत्साहित और खुश था, लेकिन नर्वस भी कि यह मेरे लिए अपने आप को साबित करने का एक मौका था। मैं इसमें पत्रकार का किरदार निभा रहा हूं तो मैंने जूम काल पर कई रिपोर्टर्स और आरजे (रेडियो जाकी) से बातें की।

आपको बता दें कि इस फिल्म में कार्तिक आर्यन ने एक कमरे में ही पूरे शूट को खत्म कर दिया। इसपर कार्तिक कहते हैं, मैंने कपड़े और लोकेशन बदलने वाली काफी फिल्में की हैं, लेकिन यह फिल्म एक ही सेटअप पर शूट की गई है। मेरा किरदार (अर्जुन) एक ही कुर्सी पर बैठा हुआ है, फिर कहानी आपको कुर्सी से बांधकर रखती है। यही इस फिल्म की खूबसूरती है।

कार्तिक कहते हैं, मैं इस फिल्म को टीआरपी और अन्य पहलुओं के नजरिए से नहीं देख रहा था। मेरा जुड़ाव सिर्फ इससे था कि इस इंसान ने अपने सफर में क्या खोया क्या पाया? जब उसके पास मौके आ रहे थे, तब उसने कुछ पाया या जब उसके पास मौके नहीं आ रहे थे और उसने मौके छीन लिए, तब उसने कुछ पाया या सब कुछ खो दिया। यह सवाल मेरे दिमाग में गहरा प्रभाव छोड़कर गया। पत्रकारिता को लेकर इसमें जो मैंने सीखा वह यह है कि यह टीआरपी के खेल से ज्यादा जिम्मेदारी का काम है।



<-- ADVERTISEMENT -->

AutoDesk

Entertainment

Post A Comment:

0 comments: