शाहरुख खान को बॉलीवुड का 'बादशाह' क्यों कहते हैं? इन 10 कारणों ने एक्टर को बनाया सिनेमा का किंग - BackToBollywood

Blog Archive

Search This Blog

शाहरुख खान को बॉलीवुड का 'बादशाह' क्यों कहते हैं? इन 10 कारणों ने एक्टर को बनाया सिनेमा का किंग


<-- ADVERTISEMENT -->



बॉलीवुड का बादशाह कहो या किंग खान... ये नाम लेते ही हमारी आंखों के सामने केवल और केवल शाहरुख खान की ही तस्वीर दिखायी पड़ती है। भारत का बच्च-बच्चा शाहरुख खान को पहचानता है। 26 साल पहले फिल्म 'दीवाना' से बॉलीवुड में एंट्री करने वाली शाहरुख ने 3 दशकों से बॉलीवुड पर राज किया। उनकी कई फिल्मों की कतार है जो आने वाले सालों में रिलीज होने के लिए तैयार है। आखिर शाहरुख खान बॉलीवुड के बादशाह कैसे बने? क्यों उनके सामने कोई टिक नहीं पाया? किन कारणों से आज भी किंग खान का दबदबा भारतीय सिनेमा में बरकरार है? आज इस आर्टिकल में हम शाहरुख खान की 10 क्वालिटी के बारे में बताएंगे जिस कारण उन्हें बॉलीवुड का बादशाह कहा जाता है।
 

इसे भी पढ़ें: सलमान खान के सच्चे फैन हैं तो दीजिए उनसे जुड़े इन 10 सवालों का जवाब, ये रहे सारे प्रश्न

 

1- शाहरुख खान एक फिल्म एक्टर होने के साथ साथ फिल्म निर्माता और टेलीविजन व्यक्तित्व भी है। उन्हें सिनेमा का हर वर्ग जानता है। एसआरके अब तक बॉलीवुड की 102 फिल्मों में काम कर चुके हैं और कई फिल्म रिलीज के लिए कतार है। इसके अलावा बॉलीवुड के कई निर्देशक है जो शाहरुख खान की लेकर फिल्म बनाने की योजना बना रहे हैं। 
 

इसे भी पढ़ें: फैंस की दुआएं हुई कबूल! सर्जरी के बाद ठीक होकर अस्पताल से घर लौटे सुपरस्टार रजनीकांत


2- सलमान और आमिर भले ही पर्दे पर राज करते हों लेकिन शाहरुख हमारे दिलों पर राज करते हैं। आमिर खान (दंगल, सीक्रेट सुपरस्टार, पीके, धूम 3) और सलमान खान हैं (बजरंगी भाईजान, सुल्तान, टाइगर जिंदा है) जैसी कई फिल्में देकर बॉलीवुड पर कब्जा किया लेकिन  एसआरके की केवल एक फिल्म है (चेन्नई एक्सप्रेस) इन सब पर हावी हो गयी। एक फिल्म के बल पर उन्होंने कई रिकॉर्ड को तोड़ दिया। शाहरुख हमेशा हमारे दिलों के राजा करते रहेंगे क्योंकि उन्होंने दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे, बाजीगर, डर, परदेस, दिल तो पागल है, कुछ कुछ होता है जैसी सदाबहार फिल्में बॉलीवुड को दी है और ये फिल्में शाहरुख की अदाकारी के दम पर ही सफल हो सकी।

3- शाहरुख खान हमें हमेशा कुछ नया और रोमांचक देने के लिए तत्पर रहते हैं। हमने पर्दे पर एक्टर को हमेशा कुछ न कुछ नया ट्राई करते हुए देखा है फिर चाहें फिल्म फैन हो, जिसमें उन्होंने डबल रोल किया था या फिर फिल्म जीरो में निभाया गया बोने का किरदार। शाहरूख ने इन किरदारों को पर्दे पर निभाने के लिए कड़ी मेहनत की। 

4- शाहरुख केवल भारतीय लोगों के दिलों पर राज नहीं करते बल्कि विश्वभर में लोग उनसे प्यार करते हैं। दुबई में उनके जन्मदिन पर दीवाली की तरह सेलेब्रेशन किया जाता है। बुर्ज खलिफा पर उनकी तस्वीर लगायी जाती है। दर्शकों के आकार और आय के संदर्भ में उन्हें दुनिया के सबसे सफल फिल्मी सितारों में से एक के रूप में वर्णित किया गया है।

5- खान ने 1980 के दशक के अंत में कई टेलीविजन श्रृंखलाओं में अभिनय के साथ अपने करियर की शुरुआत की। उन्होंने 1992 में दीवाना से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। अपने करियर की शुरुआत में, खान को बाजीगर (1993), डर (1993), और अंजाम (1994) फिल्मों में खलनायक की भूमिका निभाने के लिए पहचाना गया। दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे (1995), दिल तो पागल है (1997), कुछ कुछ होता है (1998), मोहब्बतें (2000) और कभी खुशी कभी गम सहित रोमांटिक फिल्मों की एक श्रृंखला में अभिनय करने के बाद वह प्रमुखता से उभरे। (2001)। खान ने देवदास (2002) में एक शराबी के चित्रण के लिए आलोचनात्मक प्रशंसा अर्जित की, स्वदेस में एक नासा वैज्ञानिक (2004), चक दे ​​में एक हॉकी कोच! इंडिया (2007) और माई नेम इज खान (2010) में एस्परगर सिंड्रोम वाला एक आदमी। उनकी सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्मों में कॉमेडी चेन्नई एक्सप्रेस (2013), हैप्पी न्यू ईयर (2014), दिलवाले (2015), और क्राइम फिल्म रईस (2017) शामिल हैं। उनकी कई फिल्में भारतीय राष्ट्रीय पहचान और प्रवासी समुदायों, या लिंग, नस्लीय, सामाजिक और धार्मिक मतभेदों और शिकायतों के साथ संबंधों को प्रदर्शित करती हैं।

6- शाहरूख खान एक शानदार एक्टर और इंसान होने के साथ-साथ ब्रिलियंट बिजनेस मैन भी है। खान मोशन पिक्चर प्रोडक्शन कंपनी रेड चिलीज़ एंटरटेनमेंट और उसकी सहायक कंपनियों के सह-अध्यक्ष हैं और इंडियन प्रीमियर लीग क्रिकेट टीम कोलकाता नाइट राइडर्स और कैरेबियन प्रीमियर लीग टीम ट्रिनबागो नाइट राइडर्स के सह-मालिक हैं। वह लगातार टेलीविजन प्रस्तोता और स्टेज शो कलाकार हैं। उनके कई समर्थन और उद्यमिता उपक्रमों के कारण मीडिया अक्सर उन्हें "ब्रांड एसआरके" के रूप में लेबल करता है। 

7- शाहरूख खान की जिंदगी का सफर एक आम इंसान को मोटिवेशन देता है। शाहरूख खान को ये नाम और शोहरत गाजीर में नहीं मिली है। उन्होंने अपने टेलेंट और मेहनट के दम पर इसे हासिल किया है। 

8- जब भी कभी समाज से जुड़े कार्यों की बात होती है तो शाहरुख खान बढ़-चढ़कर भागीदार बनने है और अपना सामाजिक कर्तव्य भी निभाते हैं। कोरोना काम में उन्होंने भारत सरकार और राज्य सरकार की मदद की। खान के परोपकारी प्रयासों ने स्वास्थ्य देखभाल और आपदा राहत सेवाएं भी शामिल है। बच्चों की शिक्षा के समर्थन के लिए 2011 में यूनेस्को के पिरामिड कॉन मार्नी पुरस्कार और 2018 में विश्व आर्थिक मंच के क्रिस्टल अवार्ड से भारत में महिलाओं और बच्चों के अधिकारों के लिए उनके नेतृत्व के लिए सम्मानित किया गया था।

9- शाहरुख खान बॉलीवुड के बादशाह इस लिए भी माने जाते हैं क्योंकि उन्होंने 14 फिल्मफेयर पुरस्कार, भारत सरकार द्वारा पद्म श्री और फ्रांस सरकार ने उन्हें ऑर्ड्रे डेस आर्ट्स एट डेस लेट्रेस और लीजन ऑफ ऑनर से सम्मानित किया है। एशिया और दुनिया भर में भारतीय डायस्पोरा में खान का एक महत्वपूर्ण अनुयायी है। 

10- शाहरुख खान नियमित रूप से भारतीय संस्कृति के सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची में शामिल होते हैं, और 2008 में, न्यूज़वीक ने उन्हें दुनिया के अपने पचास सबसे शक्तिशाली लोगों में से एक का नाम दिया।



<-- ADVERTISEMENT -->

bollywood celebs

Celebs Gossips

Entertainment

Post A Comment:

0 comments: