Amitabh Bachchan की आवाज में कोरोना कॉलर ट्यून हटाए जाने की मांग, दिल्ली हाईकोर्ट में दायर याचिका - BackToBollywood

Popular Posts

Blog Archive

Search This Blog

Amitabh Bachchan की आवाज में कोरोना कॉलर ट्यून हटाए जाने की मांग, दिल्ली हाईकोर्ट में दायर याचिका


<-- ADVERTISEMENT -->



नई दिल्ली: साल 2020 में देश में कोरोना महामारी ने दस्तक दी थी। इस महामारी से बचने के लिए सरकार ने कई तरह के कदम उठाए। देश में कई महीनों तक लॉकडाउन रहा। साथ ही हर व्यक्ति को जागरुक करने के लिए एक कॉलर ट्यून भी बनाई गई। जिसमें कोरोना से कैसे बचा जाए और क्या सावधानी बरतीं जाए इसे लेकर जागरुक किया गया। कुछ समय से अमिताभ बच्चन की आवाज में ये कॉलर ट्यून सुनाई देने लगी।

कंगना के बाद BMC ने दर्ज की Sonu Sood के खिलाफ शिकायत, बचाव के लिए बॉम्बे हाईकोर्ट जाने की कही बात

लेकिन अब अमिताभ बच्चन की आवाज में कॉलर ट्यून को हटाने की मांग की गई है। दिल्ली हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई है। खबरों के मुताबिक, इस याचिका में कहा गया है कि अमिताभ बच्चन इस काम के लिए सरकार से पैसे ले रहे हैं। जबकि देश में ऐसे बहुत सारे कोरोना वॉरियर मौजूद हैं, जिन्होंने कोरोना काल में आम लोगों की हर तरह से मदद की है। ऐसे में इस कॉलर ट्यून में उन लोगों की आवाज होनी चाहिए जिन्होंने कोरोना काल में लोगों की सेवा का काम किया है।

इस याचिका को राकेश नाम के व्यक्ति के द्वारा लगाया गया है। दिल्ली हाईकोर्ट ने उनकी इस याचिका को सुनवाई के लिए स्वीकार कर लिया है। इस पर 18 जनवरी को सुनवाई होगी।

डॉक्टर की क्लिनिक के बाहर Ranbir Kapoor को देख फैंस हुए परेशान, सोशल मीडिया पर वीडियो हुआ वायरल

इससे पहले एक यूजर ने ट्विटर पर अमिताभ बच्चन से कोरोना कॉलर ट्यून को बंद करने की गुजारिश की थी। इस पर उन्होंने ट्वीट कर बताया था कि उन्होंने ये काम निशुल्क किया है। बिग बी ने ट्वीट कर कहा- कॉलर ट्यून मेरा निर्णय नहीं है। मुझसे सरकार ने कहा कि कोरोना काल के चलते हम चाहते हैं कि कुछ WHO की तरफ से एक कैंपेन के लिए ये शब्द बोल दीजिए। इसे में हम एक वीडियो के रूप में देशभर में चलाएंगे। इसलिए मैंने कर दिया। अब उन्होंने इसे कॉलर ट्यून बना दिया है। अब मैं क्या कर सकता हूं?" इसके आगे अमिताभ बच्चन ने लिखा, "मैं देश, प्रांत व समाज के लिए जो भी करता हूं वो निशुल्क करता हूं, कोई लिखित पढ़ित नहीं होती, बस कर देता हूं। यदि आपको कष्ट हो रहा तो मैं क्षमा प्राथी हूं। लेकिन ये विषय मेरे हाथों में नहीं है।"


Loading...

<-- ADVERTISEMENT -->

Reactions:

AutoDesk

Entertainment

Post A Comment:

0 comments: