राहुल वैद्य बन सकते हैं इस बार के विनर- सोनाली फोगाट - BackToBollywood

Popular Posts

Blog Archive

Search This Blog

राहुल वैद्य बन सकते हैं इस बार के विनर- सोनाली फोगाट


<-- ADVERTISEMENT -->



हाल ही बिग बॉस (Big Boss season 14) फेम सोनाली फोगाट (sonali fogat) सलमान खान (salman khan) की अनुपस्थिति में घर से बाहर हो गईं। सीजन 14 की सबसे दबंग कन्टेस्टेेंट में से एक सोनाली ने घर से बाहर आते ही रुबीना दिलैक (rubina dillaik) पर निशाना साधा है। पत्रिका से खास बातचीत में सोनाली ने बताया कि घर में दाखिल होने से पहले रुबीना की उनके मन में अच्छी छवि थी, लेकिन उनके साथ घर में 33 दिन बिताने के बाद मुझे समझ आया कि वे टीवी की अपनी छवि से बिल्कुल अलग किरदार हैं। हरियाणा की सोनाली राजनीति, एक्टिंग, टिकटॉक इन्फ्लूएंसर और सोशल एक्टिविस्ट हैं। यह पूछे जाने पर कि इस बार कौन विजेता बन सकता है उन्होंने राहुल वैद्य, एजाज खान, अली गोनी और राखी सावंत का नाम लिया। सोनाली का कहना है की राहुल बहुत अच्छे से खेल रहे हैं और वे स्ट्रेटेजी के साथ चल रहे हैं। वो बखूबी खुद को यहां तक लेकर आए हैं। वहीँ रुबीना को उनकी टीवी ऑडिएंस का फायदा मिल सकता है। लेकिन अली गोनी, एजाज़ खान और राखी सावंत भी प्रबल दावेदारों में शामिल हैं। गौरतलब है कि शो में उन्हें हरियाणा की दबंग लेडी कहा जाता था लेकिन शो में खाना डस्टबिन में फेंकने पर रुबीना से हुई बहस के बाद वे दो दिन तक रोती रही थीं।

रुबीना नहीं राहुल वैद्य बन सकते हैं इस बार के विनर- सोनाली फोगाट

सलमान के कारण लिया था हिस्सा
सोनाली ने बताया की उन्होंने शो में सलमान खान के कारण हिस्सा लिया था। शो में हिस्सा लेकर उन्हें बहुत अनुभव हुआ और उन्हें घर में अलग अलग कम्पटीशन भी नज़र आया जहां पार्टिसिपेंट्स एक दूसरे के साथ बाद भी कम्पटीशन नहीं छोड़ रहे थे। सोनाली ने बताया कि उन्होंने घर में पहुँचते ही सारे नियम बदल दिए। एक्टिंग से एक साल बाद ही बीजेपी ज्वाइन कर ली करने वाली सोनाली की डस्टबिन में निवाला डालने पीछे रुबीना से ज़बरदस्त झगड़ा हुआ था। सोनाली की यह नियम उन्होंने बर्तन धोने वाले सहूलियत के लिए बनाया। था लेकिन रुबीना ने इसका मुद्दा बना दिया , जबकि वे खुद बहुत खाना फेंकती थी। मैं सलमान को बहुत ज़्यादा लाइक करती हूँ इसलिए इस शो का हिस्सा बनी। धर्मेंद्र जी के साथ भी मौका लगा तो एक रोमांटिक सांग करुँगी उन्होंने फोन पर मुझसे इसका वादा भी किया है।

दादी सरपंच थी, 7वीं कक्षा से जुडी थी प्रौढ़ शिक्षा से
मेरी दादी सरपंच थी इसलिए महिलाओं के हक़ में शुरू से आवाज़ उठाई। सातवीं कक्षा से ही प्रौढ़ शिक्षा कार्यक्रम से जुड़कर काम करने लगी थी। ससुर कृष्ण कुमार फोगाट, सास, बुआ सास और ससुराल के अन्य सदस्यों ने हमेशा आगे बढ़ाया।


Loading...

<-- ADVERTISEMENT -->

AutoDesk

Entertainment

Post A Comment:

0 comments: