यूजर का अकाउंट सस्पेंड होने पर भड़कीं Kangana Ranaut, बोलीं-जब जवाब नहीं होते तो आपका घर तोड़ते हैं - BackToBollywood

Popular Posts

Blog Archive

Search This Blog

यूजर का अकाउंट सस्पेंड होने पर भड़कीं Kangana Ranaut, बोलीं-जब जवाब नहीं होते तो आपका घर तोड़ते हैं


<-- ADVERTISEMENT -->



मुंबई। True Indology नाम के एक ट्वीटर हैंडल का अकाउंट सस्पेंड होने के चलते विवाद खड़ा हो गया है। कथित तौर पर इस अकाउंट को एक आईपीएस अधिकारी के गुस्से का शिकार होना पड़ा। अकाउंट सस्पेंड होने के बाद नेता, अभिनेता और जनता इसे वापस एक्टिव करने की मुहिम चला रहे हैं। इनमें अभिनेत्री कंगना रनौत ( Kangana Ranaut ) भी शामिल हैं। एक्ट्रेस ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर सस्पेंशन पर भड़ास निकाली।

'प्रधानमंत्री कार्यालय ट्विटर के खिलाफ ले एक्शन'
कंगना ने ट्वीटर अकाउंट ट्रू इंडोलॉजी को सस्पेंड करने के कारण ट्विटर और इसके सीईओ जैक डोर्से पर हमला करते हुए कहा,'ट्विटर और जैक, आपका पूर्वाग्रह और इस्लामवाद का प्रचार शर्मनाक है, आपने टीआईएएक्साइल को निलंबित क्यों किया? क्योंकि उसने हमारे इतिहास के बारे में फर्जी बातों का भंडाफोड़ किया? आपको शर्म आनी चाहिए, उस दिन की प्रतीक्षा कर रही हूं जब आप भारत में प्रतिबंधित होंगे। आशा है कि प्रधानमंत्री कार्यालय ट्विटर के खिलाफ कार्रवाई करेगा।'

यह भी पढ़ें : कैंसर से पीड़ित एक्टर की हुई ऐसी हालत, पहचानना हुआ मुश्किल, वीडियो शेयर कर लोगों से मांगी मदद

'अपने ही देश में गुलाम की तरह व्यवहार'
एक्ट्रेस ने एक अन्य ट्वीट में ने लिखा,'अपने ही देश में एक गुलाम की तरह व्यवहार किए जाने के कारण थक गई हूं, हम अपने त्योहार नहीं मना सकते, सच नहीं बोल सकते और अपने पूर्वजों का बचाव नहीं कर सकते, हम आतंकवाद की निंदा नहीं कर सकते। ऐसे शर्मनाक गुलामी भरे जीवन का क्या मतलब जिसे कोई और नियंत्रित करें।'

यह भी पढ़ें : 'बम डिगी डिगी' गर्ल साक्षी मलिक ने की बायफ्रेंड संग सगाई, आंखों पर पट्टी बांधे आई रिंग पहनने

यह शर्मनाक है—रणवीर शौरी
अभिनेता रणवीर शौरी ( Ranveer Shorey ) ने भी इस अकाउंट के निलंबन पर सवाल उठाया है। उन्होंने लिखा, 'यह दूसरी बार है जब ट्विटर इंडिया ने अनुचित रूप से जानकारीपूर्ण और सभ्य ट्विटर हैंडल में से एक को निलंबित कर दिया है। यह शर्मनाक है।'

ये है मामला
जानकारी के अनुसार, आईपीएस अधिकारी डी रूपा ने पुराणों में पटाखे चलाने का सबूत मांगा था। ट्रू इंडोलॉजी ने इस मामले में अपना पक्ष रखते हुए सोशल मीडिया पर बताया कि बंगलुरू की एक आईपीएस ने दीवाली पर पटाखे बैन करने को लेकर निर्देश दिए थे। उनका कहना था कि प्राचीन पुस्तकों में पटाखों का उल्लेख नहीं है। मैं उनकी इस बात से सहमत नहीं था और उन्हें आनंद रामायण और स्कंध पुराण से संदर्भ बताए। इसके बाद अधिकारी ने मेरी व्यक्तिगत जानकारी मांगी, जिसे मैंने देने से इंकार कर दिया। तब उन्होंने कहा कि आपका समय पूरा हो गया है। और मेरा अकाउंट 5 मिनट में सस्पेंड कर दिया गया। कितना अजीब संयोग है! ट्वीटर ने न तो कोई मेल भेजी ना ही कारण बताया।


Loading...

<-- ADVERTISEMENT -->

Reactions:

AutoDesk

Entertainment

Post A Comment:

0 comments: