बॉम्बे हाई कोर्ट ने की Sushant Singh Rajput की तारीफ करते हुए बताया उन्हें नेक इंसान, कहा- 'चेहरे से लगते थे मासूम' - BackToBollywood

Popular Posts

Blog Archive

Search This Blog

बॉम्बे हाई कोर्ट ने की Sushant Singh Rajput की तारीफ करते हुए बताया उन्हें नेक इंसान, कहा- 'चेहरे से लगते थे मासूम'


<-- ADVERTISEMENT -->



नई दिल्ली। काफी लंबे समय से दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ( Sushant Singh Rajput ) केस पर सबकी नज़रें अटकी हुई हैं। इस बीच रिया चक्रवर्ती ( Rhea Chakraborty ) द्वारा सुशांत की बहनों पर दर्ज कराई गई एफआईआर को रद्दे कराने के फैसले को न्यायमूर्ति एस एस शिंदे ( Justice S.S Sinde ) और न्यायमूर्ति एम एस कार्णिक ( Justice MS Karnika ) की पीठ ने सुरक्षित रखा है। प्रियंका और मीतू पर सुशांत के मेडिकल पर्चे से छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया गया है। जिसे खारिज करने का अनुरोध किया गया है।

यह भी पढ़ें- 'बेखुदी' गाने पर झूमती नज़र आई सुशांत की एक्स गर्लफ्रेंड Ankita Lokhande, फैंस ने की बायकॉट की मांग

Rhea Chakraborty VS Sushant Singh Rajput Sisters

जस्टिस ने फैसला सुनाने से पहले इस मामले में जस्टिस एस एस शिंदे ने सुशांत के काम की खूब तारीफ की है। उन्होंने कहा कि "मामला चाहे कुछ भी हो। सुशांत को देखकर कोई भी इंसान यह जरूर कहेगा कि वह एक मासूम, सीधे और नेक इंसान हैं। उनकी फिल्म एमएस धोनी ( MS.Dhoni ) को अधिकतर लोगों ने पसंद किया।" गौरतलब है कि 14 जून 2020 को सुशांत अपने मुंबई आवास में मृत पाए गए थे। जिसके बाद से उनकी मौत को लेकर कई सवाल उठाए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें- कोरोना वैक्सीन लगाने वाली पहली भारतीय एक्ट्रेस बनीं Shilpa Shirodkar, फोटो शेयर कर दी जानकारी

Rhea Chakraborty

वकील विकास सिंह का आया बयान

वहीं इस पूरे मामले में सुशांत की फैमिली के वकील विकास सिंह ( Sushant Lawyer Vikas Singh ) का बयान भी सामने आया है। वकील विकास सिंह का कहना है कि "रिया ने जो एफआईआर की है। वह एक काउंटर केस था। क्योंकि इस वक्त खुद रिया सीबीआई की जांच के घेरे में हैं। रिया पहले ही कई तरह की कहानियां बता चुकी हैं।" आपको बता दें रिया ने यह बात काबूल कर ली है कि उन्होंने सुशांत को ब्लॉक किया था और शायद वह उनकी परेशानी की वजह भी हो सकती हैं।


Loading...

<-- ADVERTISEMENT -->

Reactions:

AutoDesk

Entertainment

Post A Comment:

0 comments: