Anupama 27th August Written Update: राखी दवे के पास घर गिरवी रखकर अनुपमा ने लिए 20 लाख रुपए, वनराज ने लिया घर छोड़ने का फैसला - BackToBollywood

Blog Archive

Search This Blog

Total Pageviews

Anupama 27th August Written Update: राखी दवे के पास घर गिरवी रखकर अनुपमा ने लिए 20 लाख रुपए, वनराज ने लिया घर छोड़ने का फैसला


<-- ADVERTISEMENT -->


नई दिल्ली। शो अनुपमा में जबरदस्त ट्विस्ट और ड्रामा देखने को मिल रहा है। अनुपमा मुसीबतों में घिरी होती और वो जाकर राखी दवे से मदद मांग लेती है। राखी दवे मदद तो करती है लेकिन दोनों के बीच एक सौदा हो जाता है। जिसे कोई नहीं जानता था। लेकिन राखी दवे अपनी हरकतों से बाज नहीं आती है। रक्षा बंधन के त्योहार पर वो शाह परिवार में आकर खूब हंगामा और तमाशा करती है। वनराज और पूरे घरवालों को खूब ताने सुनाती है। इसी दौरान उसके मुंह से अनुपमा और उसके बीच हुए सौदे के राज को खोल देती है। वनराज ये सुनकर भड़क जाता है और अपने पुराने अवतार में लौटकर एक बड़ा फैसला लेता है।

घर दवे ने जमाया अनुपमा के घर पर हक

राखी दवे वनराज को बहुत खरी-खोटी सुनाती है। तभी काव्या राखी दवे से कहती है कि वो वनराज से बदतमीजी ना करें। वनराज राखी दवे को घर से निकलने के कहता है। राखी दवे कहती है कि अब ये घर उसका नहीं है। बल्कि उनका है। अनुपमा राखी दवे को चुप कराने की कोशिश करती है। लेकिन राखी दवे किसी की नहीं सुनती है। राखी दवे कहती है कि अब ये घर उसका भी है। ये सुनकर सभी हैरान हो जाते हैं।

राखी दवे ने खोला घर का राज

वनराज अनुपमा से पूछता है कि ये बदतमीज औरत क्या कह रही है? अनुपमा वनराज के कहने पर चुप्पी साधे बैठी होती है। तभी राखी बताती है कि उन्हें जो टैक्स के पैसे चुकाने थे। उसकी रकम उसने दी है। जिसके बदले में अनुपमा ने अपने हिस्से का घर उसके पास गिरवी रखा है। इस बात को सुनकर सभी दंग रह जाते हैं। राखी बताती है कि देर रात अनुपमा उसके घर भीख मांगने के लिए आई थी।

घर वालों का फूटा अनुपमा पर गुस्सा

एपिसोड में दिखाया जाता है कि जब अनुपमा राखी दवे से मदद मांगती है। राखी दवे मदद करने के लिए तैयार तो होती है, लेकिन उसके आगे एक शर्त रख देती है। राखी दवे कहती है कि उसकी बेटी तो वो वापस नहीं कर रहे हैं। तो अब वो अपना घर गिरवी रखकर पैसे ले जाए। अनुपमा राखी दवे को ऐसा करने से बहुत रोकती है, लेकिन वो नहीं सुनती। ये बात सुनकर वनराज अनुपमा के ऊपर भड़क जाता है। वनराज बताता है कि उसने इस घर की खुशियां, गुरूर, गर्व को सभी कुछ दाव पर लगाया दिया। तोषो, किंचल, काव्या और बॉ सभी अनुपमा को गलत ठहराने लगते हैं। बाबू जी सभी को चुप कराने की बात कहते हैं।

 

बाबू जी ने दिया था अनुपमा के इस फैसले में साथ

बाबू जी सभी को चुप करने के लिए कहते हैं, लेकिन काव्या कहती है कि आज वो उसकी साइड नहीं लेगें। तोषो कहता है कि मां की गलतियां बढ़ती ही जा रही है। वनराज पूछता है कि उसने इतना फैसला किसके कहने पर लिया? तभी बाबू जी कहते हैं कि उन्होंने उनके कहने पर ये फैसला लिया। एपिसोड में दिखाया जाता है कि राखी दवे की शर्त को मनाने से पहले अनुपमा बाबू जी को फोन करती है और बताती है कैसे वो बैंक फ्रॉड का शिकार हो गई है।

अब जब वो राखी दवे से मदद मांगने के लिए आई है तो वो उनसे उनका घर गिरवी रखने को कह रही है। बाबू जी अनुपमा को सलाह देते हैं कि वो घर को गिरवी रख दें। धीरे-धीरे वो पैसे देकर घर को छुड़वा लेंगे। बाबू जी कहते हैं कि घर दोबारा बना सकते हैं, लेकिन परिवार को दोबारा नहीं बना सकते हैं।

 

यह भी पढ़ें- Anupama 26th August Written Update: राखी दवे से मदद लेकर अनुपमा ने दिया परिवार को बड़ा झटका, टूटा वनराज का गुरूर

बाबू जी ने लिया अनुपमा का पक्ष

बाबू जी पूरे परिवार को समझाते हैं कि गलतियां सब से होती है। वनराज कहता है कि और कोई रास्ता निकल जाता। बाबू जी कहते हैं कि कोई और रास्ता था कोई और उस पर क्यों नहीं चला? बाबू जी वनराज को समझाते हैं कि टैक्स की रकम देने में एक भी दिन लेट हो जाता तो कारखाने पर ताला लग जाता। बाबू जी कहते हैं कि अनुपमा तो ऑनलाइन डांस क्लास चला लेगी। लेकिन तेरा कैफ कैसे चलेगा? बॉ कहती है कि उसने घर बेच दिया है। बाबू जी कहते हैं कि बेचा नहीं है गिरवी रखा है।

किंचल की मां से घर वापस देने की रिक्वस्ट

राखी दवे कहती है कि गिरवी भी अपने के पास रखा है। वो उनकी खास ही तो है। किंचल अपनी मां से घर वापस देने को कहती है और खुद को गिरवी रखने की बात करती है। राखी दवे कहती है कि वो अब उसी के घर में रहती है। वनराज राखी दवे से घर के पेपर्स वापस देने और अपने पैसे वापस ले जाने को कहता है। लेकिन तभी राखी दवे अपने नाम की नेमप्लेट लाती हैं और दरवाज़े पर लगा देती है। ये देख वनराज भड़क जाता है। राखी दवे कहती है कि अब वो शान से उस घर में आएगी।

पुराने अवतार में लौटा वनराज

वनराज कहता है कि उसने अपना बेटा, तीज त्योहार राखी दवे के साथ बांट लिया, लेकिन बाबू जी का आशीर्वाद यानी कि घर को उसके साथ नहीं बांटेगा। वनराज घर के दरवाजे पर लगी खुद की नेम प्लेट को हटा लेता है। राखी दवे वनराज को सलाह देती है कि वो खुद का और अपनी बहन का हिस्सा भी उसे बेच दे। वनराज अनुपमा से कहता है कि 25 साल में उसने उसे जितने दुख दिए थे। उसने आज वही दुख और दर्द सूत समेत वापस दे दिए।

वनराज फैसला लेता है कि वो अब घर छोड़कर चला जाएगा। वनराज अनुपमा से कहता है कि वो उसे कभी भी माफ नहीं करेगा। राखी दवे अनुपमा को चिढ़ाते हुए कहती है कि वो बताना नहीं चाहती थी। लेकिन उसके मुंह से ये बात निकल गई। राखी दवे कहती है कि उसकी वजह से उनका रक्षा बंधन का त्योहार बर्बाद हो गया।

 

यह भी पढ़ें- Anupama 24th August Written Update: 40 लाख के कर्ज में डूबा शाह परिवार, दाव पर लगी अनुपमा की सारी खुशियां

( Precap- वनराज अनुपमा के पास आता है और कहता है कि इतने सालों में जो उसने जो बर्ताव उसके साथ किया था। वो बिल्कुल सही था। बाहर जाते ही वो इतनी मुसीबत घर ले आई है। इससे अच्छा था कि वो घर पर ही ठीक थी। वहीं दूसरी ओर राखी दवे कहती है कि वो शाह परिवार को इतना दुखी करेंगी कि एक वो खुद ही उसकी बेटी को उसके पास ले आएंगी। )




<-- ADVERTISEMENT -->

AutoDesk

Entertainment

Post A Comment:

0 comments: