आखिरी हेमा मालिनी के साथ क्या हुआ था ऐसा, जिसके कारण धर्मेंद्र ने सुभाष घई में जड़े थे तमाचे - BackToBollywood

Popular Posts

Blog Archive

Search This Blog

आखिरी हेमा मालिनी के साथ क्या हुआ था ऐसा, जिसके कारण धर्मेंद्र ने सुभाष घई में जड़े थे तमाचे


<-- ADVERTISEMENT -->



नई दिल्ली: ये बात तो आप जरूर जातने होंगे कि अपने जमाने के सुपरस्टार धर्मेंद्र (Dharmendra) वैसे तो काफी शांत और शरीफ हैं, लेकिन बात एक्ट्रेस और उनकी पत्नी हेमा मालिनी (Hema Malini) की आती है, तो उनका गुस्सा सातवें आसमान पर चढ़ने में देर नहीं लगती है। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि एक बार निर्देशक सुभाष घई (Subhash Ghai) उनके इसी गुस्से का शिकार हो चुके हैं। हेमा के कारण धर्मेंद्र उनमें कई तमाचे जड़ चुके हैं। आइये जानते हैं आखिर हेमा मालिनी के साथ ऐसा क्या हुआ था, जिसके कारण धर्मेंद्र को ऐसा करना पड़ा।

krodhi.jpg

दरअसल साल 1981 में निर्देशक सुभाष घई फिल्म ‘क्रोधी’ बना रहे थे। इस फिल्म में शशी कपूर, जीनत अमान, धर्मेंद्र और हेमा मालिनी लीड रोले में थे। इस फिल्म में एक सीन के लिए हेमा मालिनी को बिकिनी पहनना जरुरी था। जिसके बारे में सुभाष घई ने हेमा मालिनी को बताया। ये सुनकर हेमा मालिनी ने इस सीन को करने के लिए साफ मना कर दिया।

dharm_hema.jpg

लेकिन सुभाष घई नहीं माने और उन्होंने हेमा मालिनी से कहा कि ये सीन स्विमिंग पूल पर फिल्माया जा रहा है। जिसके लिए आपको बिकिनी पहननी ही होगी। ऐसे ही बार-बार सुभाष घई ने हेमा मालिनी को बिकिनी पहनने पर खूब जोर डाला। सुभाष घई के फोर्स करने पर हेमा नाराज हो गई। इसके साथ ही हेमा मालिनी बिकिनी की जगह कोई रिवीलिंग ड्रेस पहनने के लिए राजी हो गई। इसके बाद फिल्म के इस सीन को शूट किया गया।

dharm_hema1.jpg

लेकिन किसी तरह ये बात धर्मेंद्र तक पहुंच गई कि सुभाष हेमा को बिकिनी पहनने के लिए फोर्स कर रहे थे। ये जानकर धर्मेंद्र आगबबूला हो गए। फिर क्या था, धर्मेंद्र ने सेट पर जाकर सुभाष घई को मारना शुरू कर दिया। उन्होंने सुभाष को कई तमाचे जड़े। इसके बाद वहां मौजूद फिल्म निर्माता रंजीत वीज ने धर्मेंद्र को जैसे तैसे बहुत समझाने के बाद रोक लिया।

यह भी पढ़ें: जानिए कैसे जिंदगी ने नक्सलवाद में फंसे मिथुन चक्रवर्ती को बना दिया बॉलीवुड का डिस्को डांसर

इसके बाद धर्मेंद्र ने सुभाष को धमकी भी दी कि वो आगे ऐसा कुछ न करें। इस पूरी घटना का अंजाम यह हुआ कि डर के मारे सुभाष घई ने अपनी फिल्म से इस सीन को ही निकाल दिया।




<-- ADVERTISEMENT -->

AutoDesk

Entertainment

Post A Comment:

0 comments: