सेक्स के दौरान स्त्री के स्तनों का इतना अधिक आकर्षण और महत्व क्यों होता है? - BackToBollywood

Popular Posts

Blog Archive

Search This Blog

सेक्स के दौरान स्त्री के स्तनों का इतना अधिक आकर्षण और महत्व क्यों होता है?

सेक्स के दौरान स्त्री के स्तनों का इतना अधिक आकर्षण और महत्व क्यों होता है? why breast size are more important during sex

<-- ADVERTISEMENT -->



सेक्स के दौरान स्त्री के स्तनों का इतना अधिक आकर्षण और महत्व क्यों होता है?

सवाल: मेरी उम्र 25 साल है। मैं जानना चाहती हूं कि स्त्री के सौंदर्य में और सेक्स के लिए उनके स्तनों का इतना अधिक आकर्षण और महत्व क्यों होता है? पुरुष स्त्रियों के स्तनों को देखकर उत्तेजित क्यों हो जाते हैं?

जवाब: हमारे प्राचीन ग्रंथों, पुस्तकों और शिल्प कलाओं में स्त्री के सौंदर्य को काफी महत्व दिया गया है। स्तनों का महत्व सुखी दाम्पत्य जीवन की नींव है। एक स्त्री के शरीर में उसके आकर्षण के कारणों में चेहरे के बाद स्तनों का ही नंबर आता है। सुडौल, सुगठित स्तन न सिर्फ स्त्रियों के सौंदर्य को आकर्षक बनाते हैं, बल्कि पुरुषों को अपनी और आकर्षित करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। मादकता की दृष्टि से स्त्री के स्तनों की गणना पहले नंबर पर की जाती है। स्त्री के स्तनों के उभार पुरुषों के मन पर गहरा असर पैदा करते हैं, जिसके कारण स्तनों को देखकर उनके मन में कामेच्छा उत्पन्न होती है, जो सेक्स के दौरान प्रमुख भूमिका निभाती है। स्त्रियां भी अपने सौंदर्य और भी आकर्षक बनाने के लिए अपने स्तन के उभारों को प्रदर्शित करने में पीछे नहीं रहती है।


स्त्री के महत्वपूर्ण अंग हैं उसके स्तन


किशोरावस्था के बाद जब यौवन की शुरुआत होती है तो उस दौरान हार्मोन्स बदलने के कारण स्त्रियों के स्तनों में भी उभार आता है और युवतियां अपने स्तनों के सौंदर्य के प्रति जागरूक होने लगती हैं। वह अपने स्तनों को जितना हो सके, आकर्षक बनाए रखने की कोशिश करती हैं। स्त्री के महत्वपूर्ण यौनांग हैं उसके स्तन, जो कुदरत का वरदान हैं। स्त्रियों के सुंदर सुडौल स्तन किसी भी पुरुष का ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर लेने में सक्षम होते हैं। स्तन शिशु की भूख को भी शांत करते हैं और पुरुष की कामोत्तेजना को जगा कर उसकी चाहत को शांत करने में भी प्रभावी होते हैं।

स्तनों को छूने, सहलाने, दबाने से जागती है कामोत्तेजना

जिस प्रकार पुरुषों में उत्तेजक दृश्यों को देखकर, पत्र-पत्रिकाओं में मॉडलों या अपनी किसी पसंदीदा अभिनेत्री की तस्वीर को देखकर, किसी युवती को कम कपड़ों में देखकर, प्रेमी जोड़ों की हरकतों को देखकर या सेक्सुअल फैंटेसी के बारे में सोचकर, कामोत्तेजना उत्पन्न हो जाती है, उसी प्रकार स्त्रियों के स्तनों को छूने, सहलाने, दबाने,मसलने और उनके निपल्स को चूसने से उनकी कामेच्छा जाग्रत हो जाती है और वे संभोग करने के लिए सहर्ष तैयार हो जाती हैं।



सेक्स के दौरान स्त्रियों के स्तनों के साथ ये तरीका अपनाएं

सेक्स के दौरान पुरुष द्वारा स्त्री के स्तनों को छूना,सहलाना,दबाना, मसलना, निप्पल को चूसना, दांतों से धीरे-धीरे काटना, उस पर अपना चेहरा रगड़ना प्यार और सेक्स का सर्वाधिक आनंद प्राप्त करने का जरिया होता है। निप्पल को चाटने और चूसने का काम बारी-बारी से करें।पुरुषों द्वारा इन क्रियाओं के करने से स्त्री को आनंद और उत्तेजना की अनुभूति होती है। स्त्री के स्तनों को दबाने, मसलने, चूसने और सहलाने से उनके भग में आनंददायक थिरकन का एहसास होता है, जिसके कारण उनकी कामोत्तेजना बढ़ने लगती है और वे सेक्स करने के लिए तैयार हो जाती है और फिर अदभुत आनंद की तृप्ति प्राप्त करती है।


<-- ADVERTISEMENT -->

Offbeat

Post A Comment:

0 comments: